1st World War: Interesting facts in Hindi

1st World War facts
1st World War facts

Who Started World War 1 : किसने शुरू किया प्रथम विश्व युद्ध

1st world War एक अंतराष्ट्रीय विवाद है जो कि साल 1914 से लेकर 1918 तक घटित हुआ था. इसमे यूरोप के अधिकांश देश शामिल थे, साथ ही रसिया, यूनाइटेड स्टेट, मिडल स्टेट के कई हिस्से इस युद्ध में शामिल थे. First World War को World War 1, प्रथम विश्व युद्ध और महान युद्ध जैसे नामों से जाना जाता है. इस पोस्ट मे हम प्रथम विश्व युद्ध से जुड़े कुछ कमाल के Facts जानेंगे. जो कि आपको प्रथम विश्व युद्ध की सभी घटनाओं को बारीकी से समझाएंगे. 

The World at War : Interesting Facts in Hindi

#1. प्रथम विश्व युद्ध के प्रतिभागी – Participants of first World War

प्रथम विश्व युद्ध में कई देश शामिल थे. इनमें कई रशिया के भी थे. सभी प्रतिभागियों के नाम हैं :- 

  • बुल्गारिया 
  • फ्रांस 
  • जर्मनी 
  • रूस 
  • यूनाइटेड स्टेटस 
  • इटली 
  • पुर्तगाल 
  • यूनाइटेड किंगडम 
  • ओटोमान साम्राज्य 
  • जापान 

#2. युद्ध शुरू किसने किया? Who started World War 1?

प्रथम विश्व युद्ध के कई कारण थे लेकिन सबसे ज्यादा प्रमुख कारण था ऑस्ट्रिया के उत्तराधिकारी और होने वाले राजा की उनकी पत्नी के साथ हत्या कर दी गई थी.. यह हत्या 28 जून, 1914 को की गई थी. इसके बाद ऑस्ट्रिया ने सर्बिया के साथ युद्ध की घोषणा कर दी जिसके बाद, अलग देश, अलग अलग गुटों में बंट गए. सर्बिया की मदद करने के लिए आगे आए ब्रिटेन, रूस, फ्रांस और कुछ समय के बाद जापान भी. इधर ऑस्ट्रिया की तरफ से केवल जर्मनी था, जिसका साथ आगे चलकर उस्मानिया ने दिया. ये तो था प्रमुख कारण, लेकिन अन्य कारण क्या थे? 

अन्य कारण जानने के लिए हमे विश्वयुद्ध के कुछ साल पीछे जाना होगा. विश्व युद्ध के पहले दुनिया में कच्चे माल की भारी समस्या थी, जो कि अलग अलग देशों के साथ आज भी है. हमारी प्रकृति ने हमे इस तरह से बांटा है कि हर देश के पास अलग अलग संसाधन हैं, कुछ कीमती और कुछ बेशकीमती. लेकिन देशों ने यह समझने की बजाय दूसरे देशों पर कब्जा करना शुरू कर दिया, ताकि वो ज्यादा से ज्यादा कच्चा माल जुटा सकें. इन्ही सब के कारण देशों के बीच सद्भाव ख़त्म हुआ और युद्ध की स्थिति बनी. युद्ध की स्थिति को युद्ध के अंजाम तक पहुचाने का काम किया ऑस्ट्रिया के उत्तराधिकारी की हत्या ने. प्रथम विश्व युद्ध के अन्य भी कई कारण थे. जैसे यूरोपीय राष्ट्रों में सामंजस्य की कमी. 

#3. मृत्यु संख्या – Death Toll of 1st World War

विश्व युद्ध प्रथम में  80 लाख सैनिक मारे गए थे, 2 करोड़ से ज्यादा लोग घायल हो गए थे, और साढ़े 6 करोड़ सैनिकों को अलग अलग देशों में कैद कर लिया गया था. इससे जुड़ा सबसे भयानक तथ्य यह है कि युद्ध के एक चरण, Somme के युद्ध में, पहले ही दिन 58000 ब्रिटिश सैनिक लगभग गायब हो गए थे. 

World war

#4. अमेरिका और युद्ध : America in 1st World War

अमेरिका ने विश्व युद्ध प्रथम के दौरान असल युद्ध में केवल 7 महीने ही बिताए थे. यानी कि अमेरिका असल युद्ध में शामिल तो था लेकिन केवल मौखिक तौर पर. असल युद्ध में बिताए गए 7 महीनों के दौरान अमेरिका ने 1 लाख 16 हजार लोग मारे गए थे और 2 लाख 4 हजार लोग घायल हो गए थे. 

#5. जर्मनी और युद्ध : Germany in 1st World War

जैसा कि आप जानते ही हैं जर्मनी ने युद्ध में ऑस्ट्रिया का साथ दिया था, लेकिन जर्मनी के लोग यह बिल्कुल भी नहीं चाहते थे कि जर्मनी युद्ध का हिस्सा बने. कई साल रुकने के बाद उन्होने साल 1918 में पुरजोर आंदोलन किया ताकि विश्व युद्ध प्रथम रुक जाए. 

#6. फ्रांस में धमाका : Explosion in France 

प्रथम विश्व युद्ध कितना ज्यादा भयानक था इसका अंदाजा तो आपको मरने वालों और घायल होने वालों की संख्या देखकर अंदाजा लगा सकते हैं लेकिन क्या आप ये सोच सकते हैं कि ये कितना ज्यादा भयानक था. इसके extreme भयानक होने का सबूत देता है वो धमाका जो कि हुआ फ्रांस में था मगर इसकी गूँज इंग्लैड तक सुनाई दी थी. 

#7. प्लास्टिक सर्जरी : Plastic Surgery 

प्लास्टिक सर्जरी विज्ञान के सबसे बड़े चमत्कारों में से एक है लेकिन क्या आप जानते हैं कि प्लास्टिक सर्जरी की शुरुआत विश्व युद्ध प्रथम के समय ही हुई थी. इसकी शुरुआत Harold Gillies नाम के एक वैज्ञानिक ने की थी जो कि मेटल से सर्जरी करने की कोशिश करता था. ये सुनने में ही काफी भयानक लग रहा है. हालांकि Harold की कोशिश बहुत ज्यादा कामयाब नहीं रही थी लेकिन, उसकी इन कोशिशों से दुनिया को एक नए आयाम का अंदाजा लग गया था. 

#8. ब्लड बैंक: Blood Bank 

Blood Bank आज के समय में मेडिकल जगत के सबसे महत्वपूर्ण aspects में से एक है. इसकी शुरुआत भी विश्व युद्ध प्रथम के दौरान ही हुई थी. घायल सैनिकों के इलाज के. लिए ब्लड बैंक को शुरू किया गया था. 1917 की शुरुआत तक तो एक सैनिक से ब्लड सीधा दूसरे सैनिक में डाल दिया जाता था लेकिन जब सैनिकों की कमी होने लगी तब अमेरिकी सेना के डॉक्टर Caiptain Oswald Johnson ने blood bank की स्थापना की. 

#9. ब्रिटेन और युद्ध – Britain and 1st World War 

ब्रिटेन विश्व युद्ध प्रथम से सबसे पहले जुड़ने वाले देशों में से एक था लेकिन सबसे कम नुकसान इस युद्ध में ब्रिटेन का ही हुआ था. ब्रिटेन के केवल 10% सैनिक ही हताहत हुए थे. बाकी सैनिकों को कुछ भी नहीं था और उनके लिए प्रथम विश्व युद्ध बाकी दिनों की तरह ही था. 

#10. When did World War 1 start and end? ये शुरू कब हुआ और खत्म किस date पर हुआ?

28 जुलाई 1914 से शुरू हुए इस युद्ध का समापन 11 नवंबर 1918 को हुआ था. इसके अंत में गठबंधन की विजय हुई थी. 

You May Also Like : कैसे इस इंसान ने बचाया दुनिया को तीसरे विश्व युद्ध से।

1st World War: Unknown and Amazing facts in Hindi

1) विश्व युद्ध में 30 देशों के 6 करोड़ 50 लाख सैनिकों ने भाग लिया था. 

2) विश्व युद्ध में ⅔  सैनिकों की मौत युद्ध के कारण हुई थी और ⅓ की बीमारियों के कारण. 

3) विश्व युद्ध प्रथम का सबसे बड़ा नुकसान आम नागरिकों को भुगतान करना पड़ा था. इस तरह की नीतियां चलाई गईं थी कि आम नागरिकों को मारा जाए और उन्हे डरा दिया जाए ताकि वो समर्पण के लिए अपने अपने देशों पर दबाव डालें. 1914 में 150 लोगों को मारा जाना भी युद्ध की शुरुआत का कारण थी. 

4) विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटिश टैंक को Male और female की कैटेगरी में बांटा गया था. Male tanks के पास cannons हुआ करती थी और female tanks के पास heavy machine gun. 

5) प्रथम विश्व युद्ध के दौरान खाने का बहुत ज्यादा अकाल पड़ गया था. भाग लेने वाले सभी देश इस समस्या से बहुत ज्यादा परेशान थे. गवर्नमेंट ने लोगों को यहां तक कह दिया था कि वो कम से कम खाएं ताकि खाने को बचाया जा सके. इतना ही नहीं दोस्तों शादियों या किसी भी उत्सव के दौरान खाने को फेंकना कानूनी जुर्म था. 

6) अमेरिका के युद्ध में शामिल होने से पहले, कई अमरीकी नागरिकों को इस बात से दिक्कत थी कि अमेरिका nuetral क्यों रहना चाहता है और विश्व युद्ध से जुड़ता क्यों नहीं. जब अंत में वो कुछ नहीं कर पाए तब उन्होने दूसरे देशों की सेना join कर ली. इसमे प्रमुख था French Air force का Lafayette Escadrille Branch. ये pilots का group था जिसे अमेरिकी pilots द्वारा बनाया गया था. 

7) विश्व युद्ध प्रथम से जुड़ने से पहले सभी देश यह सोचकर जुड़े थे कि यह दुनिया के हर तरह के War का अंत होगा. H.G. Wells ने इसे “The War to end all’ में बताया है। वो मानते थे कि यह युद्ध बाकी युद्धों को खत्म करने में मदद करेगा. लेकिन ऐसा नहीं हुआ विश्व युद्ध के बाद द्वितीय विश्व युद्ध भी हुआ जो कि उससे भी ज्यादा भयानक था. 

8) प्रथम विश्व युद्ध के कारण यह सकारात्मक बात हुई कि अमेरिकी समाज में महिलाओं और अफ्रीकी अमेरिकियों को सम्मान दिया जाने लगा और उन्हे मानव संसाधन समझा जाने लगा. 

9) अमेरिका युद्ध में शामिल नहीं था और हथियारों के प्रदाता के तौर पर केवल युद्ध का लुत्फ उठाना चाहता था लेकिन जर्मनी के विदेश मंत्री द्वारा अमेरिकी जहाजों को डूबाने की योजना बनाने के बाद, अमेरिका को युद्ध में कूदना पड़ा. 

10) प्रथम विश्व युद्ध के दौरान ही कबूतरों को संदेश वाहक के तौर पर प्रयोग किया जाने लगा. लगभग 1 लाख से भी ज्यादा कबूतर इस युद्ध के दौरान प्रयोग किए गए थे और दुख की बात ये है कि युद्ध के दौरान प्रयोग होने वाले इन कबूतरों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी थी. कभी गोलियों से तो कभी बम धमाकों से. सबसे दुखद ये है कि वो ये भी नहीं जानते थे कि वो क्यों मारे जा रहे हैं. 

Quick Facts About First World War in Hindi

  • इसकी शुरुआत 1914 में हुई थी. 
  • यह 4 साल तक चला था. 
  • इसमे 10 देश शामिल थे. 
  • यह ऑस्ट्रिया के उत्तराधिकारी की हत्या के बाद हुआ था. 
  • इस युद्ध के दौरान पहली बार ब्लड बैंक और प्लास्टिक सर्जरी का चलन हुआ था. 
  • इसका अंत नवम्बर 1918 में हुआ था. 
  • गठबन्धन शक्तियों की विजय हुई थी. 
  • 12 लाख सैनिकों को प्रथम विश्व युद्ध में गैस के प्रकोप से मारा गया था. 
  • जर्मनी विश्व युद्ध के दौरान जहाज के डूबने के कारण बहुत परेशान था, इसके लगभग 6 हजार 596 जहाज डूबे थे. 
  • रूस की सेना युद्ध की सबसे बड़ी सेना थी. 
  • प्रथम विश्व युद्ध में भाग लेने वाले ½ सैनिकों को अपना आगे का जीवन अस्पताल में ही बिताना पड़ा था. 
  • विश्व युद्ध प्रथम के दौरान ही propaganda bureau का गठन हुआ था जो कि प्रोपेगेंडा फैलाने के काम करते थे. 
  • जीतने वाली गठबंधन की सेना के 60 लाख सैनिक मारे गए थे. 

Leave a Reply