Top 10 ‘Did You Know’ facts in Hindi – इससे पहले कभी नहीं सुने होंगे

Random and Weird ‘Did You Know’ Facts in Hindi

दोस्तों हमारी ये दुनिया बहुत ज्यादा अज़ीब है और काफी ज्यादा हैरान कर देने वाली है. अगर आप अपने चारों तरफ देखेंगे तो आपको नजर आएगा कि हम कितने ज्यादा mysterious वर्ल्ड में रहते हैं. इस आर्टिकल में उसी हैरान कर देने वाले और रहस्यमयी वर्ल्ड से हम लाए हैं कुछ ऐसे Facts जो कि आपको पूरी तरह से हैरान कर देंगे और आप के मुंह से यही निकालेगा कि अइयो! ऐसा भी होता है क्या? अगर आप जानना चाहते हैं कि वो कौन से फैक्ट्स हैं तो इस आर्टिकल ‘Did You Know’ facts in Hindi को पूरा जरूर पढ़ें और पोस्ट में आगे बढ़ने से पहले हमारे ब्लॉग INK LAB को फॉलो करना ना भूलें. क्योंकि ये चैनल आपके मन की सारी queries को दूर कर देगा. यकीन ना हो तो इस आर्टिकल को पढ़ो, और खुद जान जाओ. 

Interesting Facts about Animals:

★ A Chicken Survived Headless For 18 months – बिना सर के जीने वाला चिकन 🐔🐓

दोस्तों ये इमैजिन करना बहुत मुश्किल है कि कोई भी प्राणी बिना सर के ज़िन्दा रह सकता है. लेकिन क्या हो अगर मैं आपको एक ऐसे प्राणी के बारे में बताऊँ जो कि बिना सर के ज़िन्दा रह चुका है वो भी एक दो दिन नहीं पूरे 18 महीने. ये कहानी है माइक द हेडलेस चिकन की जो कि लगभग 18 महीनों तक बिना सर के ज़िन्दा रहा था. माइक के मालिक का नाम था लॉयड ऑलसन. लॉयड ने एक बार माइक का सर काट दिया था जिसके बाद भी वो मरा नहीं तब माइक ने, उसे ड्रॉपर से पानी पिलाने के तरीके से ज़िन्दा रखा और उसके मुंह के पास के हिस्से पर ड्रॉप लगाकर उन्होने उसे खाना फीड किया. एक दिन वो माइक के ड्रॉपर का पाइप साफ करना भूल गए और उनका चिकन अपने 18 महीनों के सर्वाइवल के बाद मृत्यु को प्राप्त हो गया. हालांकि लॉयड ने अपने चिकन माइक के ज़िन्दा रहते बहुत सारा पैसा कमाया था और उसके मरने के बाद उन्होने कई और मुर्गों पर भी ये प्रयोग करके देखा लेकिन उन्हे असफलता ही हाथ लगी. 

इन्हें भी पढ़ें : Story of MIKE- The Headless Chicken : सर कटे मुर्गे की कहानी

★ Shark lives Upto 500 years – 500 साल तक जिन्दा रहती हैं शार्क 🦈

शार्क वैसे तो हमेशा से ही इंसानों को चौंकाती रही हैं लेकिन ये वाला फैक्ट आपको और भी ज्यादा चौंकने पर मजबूर कर देगा. और आप शार्क की तरफ और भी ज्यादा अट्रैक्ट हो जाएंगे. दोस्तों शार्क की कुछ प्रजातियां ऐसी होती हैं जो कि 500 साल ज़िन्दा रह सकती हैं. ऐसा कर सकने वाली शार्क को ग्रीनलैंड शार्क कहा जाता है. ये औसतन तो 272 सालों तक ज़िन्दा रहती हैं लेकिन ये अधिक से अधिक 500 सालों तक जी सकती हैं. क्या आप सोच सकते हैं कि मुगलों के जमाने की शार्क आज तक ज़िन्दा हैं. ये सोचना ही कितना ज्यादा हैरान कर देता है. अब आपका मन भी गुनगुना रहा है ना कि अगले जन्म मोहे शार्क ही कीजो. 

★ Fishes impregnant themselves – ये मछलियां खुद ही जाती हैं इंप्रेगनेंट 🐟🐠

दोस्तों ये वाला पॉइंट हर मछली के लिए नहीं है. इस पॉइंट में मैं बात कर रहा हूं मछलियों की एक खास तरह की प्रजाति की. ये फ्रेश वाटर मछलियां होती हैं. इनकी खासियत ये है कि आम तौर पर वैसे तो मादा होती हैं लेकिन ये अपने अंदर पुरुष ऑर्गन विकसित करके खुद को गर्भवती कर लेती हैं. इन मछलियों में आम तौर पर Mangrove Kill Fish, Tropical Fish और कुछ एक तरह की और मछलियां भी शामिल होती हैं. इस तरह का सेल्फ फर्टिलाइजेशन (Self fertilisation) ये दिखाता है कि प्रकृति कितनी ज्यादा रहस्यम्यी है. इन मछलियों के अलावा और भी कुछ क्रिएचर हैं जो कि सेल्फ फर्टिलाइजेशन को फॉलो करते हैं उनके नाम हैं सफेद लीज़र्ड (White Lizard)और कोमोडो ड्रैगन (Comodo Dragon). 

★ Butterflies – An alien creature – तितलियाँ – एक अनोखी संरचना 🦋

हमारे इस तीसरे पॉइंट की हेडिंग देखकर आपको ये लग रहा होगा कि ये किसी किताब का टाइटल है, ऐसा नहीं है लेकिन जो बातें मैं आपको बताने जा रहा हूँ उन पर निश्चित तौर पर एक किताब छपनी चाहिए. ये बातें हैं तितलियों के बारे में. तितलियाँ एक अलग ही तरह की संरचना हैं. इन्हे एलियन क्रिएचर (Alien Creature) कहा जा सकता है क्योंकि अगर इतने गुण इंसानों के पास होते हैं तो शायद हम कहाँ से कहाँ पहुँच जाते. तितलियाँ अपने पैरों से भी किसी चीज को टेस्ट कर सकती हैं. इसके अलावा तितलियों के पास कान होते हैं जिससे कि वो अपने आस पास आने वाले चमगादड़ को भी भांप लेती हैं. इसके अलावा तितलियों के बारे में जो सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात है, वो ये है कि तितलियाँ कोल्ड ब्लड वाली होती हैं यानी कि उनका खून ठंडा होता है. ये जब गर्म हो जाता है तब उनकी जान को खतरा होता है इसलिए उन्हे हमेशा उड़ते रहना पड़ता है. 

इन्हें भी पढ़ें : Top 20 Interesting POK (Pakistan Occupied Kashmir) Facts

★ Frogs build their own pond – मेंढक बनाते हैं खुद से तालाब 🐸

तो इस पॉइंट को सुनने के बाद आप यही कहेंगे कि अब इस दुनिया में ऐसा कुछ नहीं बचा है जो कि आपने नहीं देखा हो. आपने सब कुछ देख लिया होगा लेकिन कभी किसी मेंढक को अपने लिए खुद तालाब बनाते हुए नहीं देखा होगा. हालांकि हर मेंढक ऐसा नहीं कर पाता. हम इस पॉइंट मे जिन मेंढकों की बात करने वाले हैं वो मेंढक बहुत ज्यादा खास हैं, इसलिए नहीं कि वो तालाब बनाते हैं. तालाब बनाना तो उनकी खासियत का केवल एक मात्र पहलू है, वो खास हैं क्योंकि वो होते हैं लगभग 3.4 किलोग्राम. नहीं नहीं ये किसी तरह की एरर नहीं है, वो 3.4 किलोग्राम के होते हैं और मेरे दोस्त ये तो बस औसत है अगर मैं मैक्सिमम की बात करूं तो ये 8 से 10 पाउंड तक भी जा सकते हैं. मैं बात कर रहा हूं गोलीअथ फ्रॉग की. ये फ्रॉग लगभग 13 इंच के होते हैं और 32 सेंटीमीटर तक बड़े हो जाते हैं. दुनिया मे इनके जितना बड़े मेंढक और किसी स्पिसीज के नहीं हैं. केवल यही मेंढक हैं जो कि इतने बड़े हैं. अब बात करते हैं उस फैक्ट की जो कि आपको हैरान कर देगा. वो फैक्ट ये है कि ये मेंढक अपने लिए तालाब खुद बनाते हैं. जिस तरह हम इंसान अपने लिए घर बनाते हैं उसी तरह ये मेंढक अपने टेडपोल के लिए तालाब का निर्माण करते हैं. ये बड़ी बड़ी चट्टानों को मूव करते हैं और उसके बाद अपने अंडों के लिए वहां पर पानी इकठ्ठा करते हैं ताकि तालाब का निर्माण किया जा सके. ये बहुत ज्यादा हैरान करने वाली बात है क्योंकि अक्सर इनके द्वारा मूव किए जाने वाले पत्थर का वजन इनसे भी ज्यादा होता है. 

Facts about Human Body:

★ Humans take time to Developing Knee- caps – घुटनों को बनने में लगता है समय 🤰👶👣

जब किसी नवजात शिशु का जन्म होता है तब उसके पास लगभग हर औसत इंसान जितने अंग मौजूद होते हैं लेकिन उसके पास केवल एक अंग नहीं होता जिसे की नी कैप (Knee cap) कहा जाता है. नी कैप बच्चों में तब बनना शुरू होता है जब वो चलना शुरू करते हैं. उससे पहले उनमें नी कैप नहीं होता. बच्चों के शरीर में नी कैप ना होना, प्रकृति का एक बहुत चमत्कार है. क्या आप जानना चाहेंगे कैसे? वो ऐसे कि एक रिसर्च में ये पाया गया है कि अगर बच्चों के शरीर में गर्भ से ही नी कैप बन जाए तो उनके जन्म में बहुत ज्यादा दिक्कत आएंगी और ये भी हो सकता है कि जन्म के समय जच्चा या बच्चा दोनों को तरह तरह की चोटें भी लग जाएं. ये फैक्ट जानकर शायद आप समझ गए हों कि हमारी प्रकृति कितनी ज्यादा समृद्ध है. 

Did You Know about this weird Fact?
P.C.- Red Letter Christians

★  Some Weird Body Facts – कमाल की है बॉडी हमारी 👀👃👂👅

दोस्तों एक ह्यूमन बॉडी को नेचर का सबसे बड़ा करिश्मा कहा जा सकता है. ह्यूमन बॉडी जिस तरह से वर्क करती है, उसमें हर चीज ही हैरान करने वाली है लेकिन हम ढूंढ कर लाए हैं ऐसे कुछ फैक्ट जो कि आपको पूरी तरह से हैरान कर देंगे. सबसे पहले शुरू करते हैं हमारी आखों से, हमारी आँखों लगभग हर मिनट 20 हर झपकती हैं. अभी जब आपने इस बात को नोटिस किया तब भी आपने देखा कि आपकी पलक झपकी थी. हमारी आंखें साल भर में लगभग 10 मिलियन बार झपकती हैं. आँखों के बाद कान की बात करते हैं. हमारे कान कभी भी ग्रो करना बंद नहीं करते. ये हमेशा ग्रो करते रहते हैं. हमारी जुबान जो कि शरीर का सबसे नाजुक हिस्सा होता है कान के बाद, इस पर लगभग 8000 टेस्ट बड होते हैं. ये टेस्ट बड, 100 से भी ज्यादा कोशिकाओं के साथ जुड़े होते हैं जो कि टेस्ट पहचानने में हमारी मदद करते हैं. 

एक औसत इंसान अपनी पूरी जिंदगी 40 हजार लीटर थूक प्रोड्यूस करता है जो कि एक झील को भरने के लिए बहुत ज्यादा है. 

और सबसे आखिरी ह्यूमन फैक्ट ये की जब हम सुबह उठते हैं तब हमारी बॉडी, 1 सेंटीमीटर लंबी होती है और जब हम सोते हैं तब तक अपनी औसत ऊंचाई में पहुंच चुके होते हैं. ये हड्डियों के स्केवेश होने के कारण होता है. 

Random facts about Earth:

Earth has More trees Than stars in the galaxy – धरती पर सितारों से ज्यादा हैं पेड़ 🌍🌎🌳🌟

दोस्तों हम अक्सर ये सुनते हैं कि इस दुनिया में तेजी से पेड़ कम हो रहे हैं और हमें पेड़ों को दुबारा लाने के लिए कुछ ना कुछ करना होगा. ये सारी बातें हम सुनते हैं जो कि बहुत ज्यादा सच भी हैं. लेकिन क्या आप ये अंदाजा लगा सकते हैं कि इस धरती पर लगभग कितने पेड़ हैं? जरा सोचिए और अंदाजा लगाइए. इस धरती पर मौजूद पेड़ों की संख्या है लगभग 3 ट्रिलियन. ये आंकड़ा वैज्ञानिकों द्वारा जारी किया गया है. हालांकि जिस तरह से तेजी से पेड़ कम हो रहे हैं ये आंकड़ा भी तेजी से नीचे की तरफ जा रहा है, लेकिन फिर भी अभी पृथ्वी पर लगभग हर इंसान के लिए 420 पेड़ मौजूद हैं. ये इंसानों के अंदर मौजूदा कोशिकाओं से भी ज्यादा है और ये मिल्की वे में मौजूद सितारों से भी ज्यादा है. दुनिया में सबसे ज्यादा रशिया के पास पेड़ हैं जो कि हैं लगभग 642 बिलियन और उसके बाद नंबर आता है 228 बिलियन. और दोस्तों अगर मिल्की वे की बात करूं तो मिल्की वे के सितारे गिनना बहुत ज्यादा मुश्किल काम जरूर है लेकिन मिल्की वे में लगभग 200 से 400 बिलियन सितारें मौजूद हैं. हालांकि इस बात को जानते हुए कि अभी हमारे पास इतना समय है कि हम अपने पर्यावरण को बचा सकें, हमें इसे बचाने की कोशिश शुरू कर देनी चाहिए. वर्ना एक दिन ऐसा आएगा जब हमारे पास कोई मौका नहीं होगा. अगर आपको भी ऐसा ही लगता है तो मुझे कमेन्ट बॉक्स में जरूर बताएं. 

Saturn Facts
P.C. Space Facts.

इन्हें भी पढ़ें : Can Dinosaurs come back on Earth- क्या डायनासोर पृथ्वी पर वापस आ सकते हैं?

★ Earth has two Moons – पृथ्वी के दो चांद हैं 🌎🌝🌚

दोस्तों अब तक आपने यही सुना होगा और किताबों में भी यही पढ़ा होगा कि पृथ्वी का एक ही उपग्रह है जिसे हमने चांद यानी कि मून नाम दिया है लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि वैज्ञानिकों के मन में इस बात को लेकर मतभेद है कि पृथ्वी के दो चांद हैं. ये सब हुआ था एक स्टडी की वजह से जिसमें ये देखा गया था कि पृथ्वी के चक्कर दो चांद काटते हैं. हालांकि जब इस बात पर काफी रिसर्च की गई तब ये पता चला कि दो चांद जैसा कुछ नहीं है. जिसे दूसरा चांद समझा जा रहा था वो एक एस्ट्रेओईड था. ये एक तरह के उपग्रह होते हैं जो कि टूटे हुए सितारों का हिस्सा होते हैं और अक्सर पृथ्वी के पास से गुजरने वाले इन टुकड़ों को पृथ्वी अपनी तरफ तेजी से खींच लेती है. 

Jupiter and Saturn weird facts:

★ Diamonds Rain On saturn and Jupiter – सैटर्न और जुपिटर पर हीरों की बारिश 🌧️✨💎💎

दोस्तों आप ये तो जानते ही हैं कि हमारी दुनिया में हीरों को कितनी ज्यादा अहमियत दी जाती है. चाहे वो फिल्मों वाले हीरो हों या फिर कार्बन वाले हीरे. खैर फिल्मों वाले हीरो की बात बाद मे, अभी बात करते हैं कार्बन से बने हीरों की. हीरों की कीमत हमारी दुनिया में लगभग 10 लाख से शुरू होती है जो कि आगे चलकर करोड़ों तक भी पहुंच जाती है. लेकिन क्या आप कभी ये सोच सकते हैं हीरों की बारिश हो रही है. जरा सोचिए अगर ऐसा हो तो क्या हो? ऐसा हमारी दुनिया में तो कभी नहीं होगा लेकिन सैटर्न और जुपीटर पर ये नजारा लगभग रोज ही देखने को मिल जाता है. जी हां दोस्तों. जूपीटर और सैटर्न के आसमानों में कार्बन क्रिस्टल होते हैं जो कि लाइट में तप कर सॉलिड डायमंड में बदल जाते हैं और जमीन पर आकर गिरते हैं. हालांकि ये वहां की धरती पर हर वक्त मौजूद नहीं रहते और आसानी से लिक्विड में बदल जाते हैं. दोस्तों जिस तरह हमारी धरती का वाटर साइकिल होता है, आप इन हीरों की बारिश को भी उसी तरह देख सकते हैं. 

तो दोस्तों ये थे दुनिया के सबसे ज्यादा चौंकाने वाले फैक्ट. अगर आपका माइंड ब्लो हुआ हो, जो कि पक्का हुआ होगा, तो इस आर्टिकल ‘Did You Know’ Facts in Hindi को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें. और हाँ दोस्तों हमें कमेन्ट करके ये जरूर बताएं कि किस फैक्ट पर आपने कहा कि अइयो ऐसा भी होता है क्या? 

Leave a Reply