Mahatma Gandhi Facts In Hindi

महात्मा गांधी। ये एक ऐसा नाम है जो कि जो कि हिन्दुस्तान के लिए हमेशा से ही पावन रहा है। महात्मा गांधी आजादी की लड़ाई की प्रमुख धुरी थे और उनका भारत को आजाद कराने में एक बड़ा योगदान था। गांधी को भारत के विभाजन के लिए भी दोष दिया जाता है, और इसे गांधी के जीवन से जुड़ा एक बुरा पहलू माना जाता है। हालांकि गांधी एक ऐसे व्यक्ति थे जो कि अपनी बुराइयों पर भी खुलकर बात करते थे। अल्बर्ट आइंस्टीन ने गांधी के बारे में कहा था कि, “आने वाली पीढ़ियां यकीन नहीं कर पाएँगी कि दुनिया में गांधी जैसा भी कोई व्यक्ति था”। आइए जानते हैं महात्मा गांधी से जुड़े कुछ कहे अनकहे तथ्य। आइए जानते हैं Mahatma Gandhi Facts. 

1)When Gandhi Thrown his Shoes 

गांधी जैसा व्यक्तित्व दुनिया में शायद ही फिर मिल पाए, ऐसा कहा जाने के पीछे गांधी जी की अलबेली सोच भी है। जरा सोचिए किसी स्टेशन के प्लेटफॉर्म से आपका जूता जमीन पर गिर जाए तो आप क्या करेंगे? आप किसी तरह कोशिश करेंगे कि आप नीचे उतरे और अपना जूता उठा लें, लेकिन गांधी का जब जूता गिरा तो उन्होंने उसे उठाने की बजाय, अपना दूसरा जूता भी वहीं फेंक दिया। उन्होंने ऐसा इसलिए किया ताकि यदि कोई दूसरा व्यक्ति उस जूते को प्राप्त कर ले तो वह उसे उपयोग में ला सके। 

2)Mahatma Gandhi – Time Magazine’s Person Of The Year 

हम सब यह जानते हैं कि टाईम मैग्जीन के परसन ऑफ द ईयर की कितनी ज्यादा वैल्यू होती है। यह दुनिया के सबसे शक्तिशाली नहीं, बल्कि दुनिया के सबसे प्रभावशाली व्यक्ति को दिया जाता है। गांधी को यह खिताब साल 1930 में दिया गया था। यह उन्हें नमक सत्याग्रह के लिए दिया गया था। नमक सत्याग्रह एक ऐसा आंदोलन था जिसने अंग्रेजों को खीज से भर दिया था। 

3)Mahatma’s Biography as Spiritual Book

गांधी को लिखने का शौक था और वह अपने बारे में और अपने आसपास के तथ्यों पर काफी कुछ लिखा करते थे। महात्मा गांधी ने अपनी आत्मकथा खुद अपने शब्दों में लिखी थी। उनकी इस किताब को “सत्य के साथ मेरे प्रयोग” के नाम से जाना जाता है। इस किताब को साल 1999 में हार्पर कोलिन पब्लिशर ने सबसे जरूरी श्रद्धेय किताबों में से एक माना था। 

4)Mahatma Gandhi as Noble Peace Prize Candidate 

महात्मा गांधी को देश विदेश से आए दिन खिताब मिलते ही रहते थे। उनके लिए यह सब केवल भौतिक वाद था इससे ज्यादा कुछ नहीं। लेकिन एक खिताब ऐसा था जिसे यदि गांधी को दिया जाता तो देश का बच्चा बच्चा गर्व से भर जाता। वह खिताब था नोबल प्राइज़ शांति के लिए। साल 1948 में इस वर्ग में गांधी जी को चुना भी गया था लेकिन उसी साल गांधी जी की हत्या कर दी गई और उनकी हत्या के बाद उस साल वह खिताब किसी को नहीं दिया गया। 

5)Mahatma Gandhi’s First Income 

महात्मा गांधी को देखने वाले एक गरीब और फकीर समझते थे लेकिन जो उन्हें जानते थे वह यह जानते थे कि उन्होंने किन चीजों को ठोकर मारी थी। Mahatma Gandhi Facts में अब बात करते हैं गांधी जी की पहली आय की। यह उन्हें तब मिली थी जब वह दक्षिण अफ्रीका में नौकरी कर रहे थे। उन्हें उनकी पहली आय 15 हजार डॉलर मिली थी जो कि आज भी बहुत से युवाओं के लिए सपना है। 

6)Henry Ford and Albert Einstein – The Followers of Mahatma 

महात्मा गांधी का रुतबा केवल भारत में ही नहीं अपितु पूरी दुनिया में था। दुनिया भर में उन्हें पसंद किया जाता था और फॉलो किया जाता था। लेकिन इस सूची में कुछ नाम बहुत ही खास हैं। पहला नाम है अल्बर्ट आइंस्टीन का, आइंस्टीन ने कहा था कि शायद ही आने वाली पीढ़ियां यकीन करें कि महात्मा गांधी जैसा कोई व्यक्ति था। हेनरी फोर्ड, फादर ऑफ मोडर्न कार्स इस लिस्ट में दूसरे हैं। फोर्ड को गांधी जी का भेजा चरखा घुमाना पसंद था। वह गांधी की एक एक कहनी को फॉलो किया करते थे। 

अगर आप Mahatma Gandhi Facts पसंद कर रहे हैं तो नीचे दिए गए newsletter को जरूर सब्सक्राइब कर लें। हम ऐसे ही Facts आप तक लाते रहेंगे। 

Subscribe to our newsletter! Don’t go away, facts are not over yet.

7)How Gandhi Become Mahatma

महात्मा गांधी को गांधी की उपाधि रबीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा दी गई थी, यह तो हर कोई जानता है लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि यह उपाधि उन्हें किस तरह दी गई थी। यह उस समय हुआ जब गांधी जी शांति निकेतन टैगोर जी से मिलने गए थे। गुरुदेव के यहां पहुंचते ही गांधी ने उन्हें “नमस्ते गुरुदेव” कहा। टैगोर अपनी तुरंत जवाब देने की कला के लिए जाने जाते हैं उन्होंने तुरंत कहा कि, यदि मैं गुरुदेव हूँ तो आप महात्मा हैं। तब से ही महात्मा गांधी का नाम महात्मा गाँधी के तौर पर प्रसिद्ध हो गया। 

8)When Gandhi changed his attire 

Mahatma Gandhi Facts में अब बात करते हैं गांधी जी के कपड़ों की। जैसा कि आप जानते हैं कि गांधी जी की पहली तनख्वाह 15 हजार डॉलर थी जो कि आज भी एक बड़ी रकम है। गांधी जी के पिता दीवान थे जिस हिसाब से गांधी के लिए रुपयों की तो कोई कमी नहीं थी, लेकिन फिर भी गांधी जी ने पूरे वस्त्र त्यागकर एक धोती में ही पूरा जीवन बिताया था। ऐसा इसलिए क्योंकि 1921 में मदुरै के दौरे पर उन्होंने देखा कि लोग गरीबी के कारण केवल एक धोती पहनकर घूम रहे हैं। 

9)When Bose Called Gandhi “Desapitha” 

सुभाष चंद्र बोस और महात्मा गांधी, दोनों ही एक दूसरे की बहुत ज्यादा इज्जत किया करते थे। दोनों का रास्ता और तरीका अलग अलग था पर वो दोनों ही देश को आजादी दिलवाना चाहते थे। हालांकि इनके समर्थक यह समझते हैं कि इनके विचारों के कारण इनमें टकराव रहा होगा जो कि गलत है। साल 1944 में सिंगापुर रेडियो से सुभाष चंद्र बोस ने गांधी को संबोधित करते हुए देशपिता कहा था। यह आगे चलकर सरोजिनी नायडू द्वारा भी कहा गया था। हालांकि भारत सरकार ने कभी भी महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता का दर्जा नहीं दिया था। 

10)Gandhi Hated Photography 

महात्मा गांधी को फोटो क्लिक करवाना बिल्कुल भी पसंद नहीं था। ऐसा क्यों था इसका कोई खास कारण मौजूद नहीं है। लेकिन मजेदार फैक्ट ये है उस दौर में सबसे ज्यादा तस्वीरे गांधी की ही क्लिक की गईं थीं। 

11)Gandhi Ji On Notes 

ऐसा सोचा जाता है कि महात्मा गांधी की नोटों पर उकेरी गई तस्वीर किसी चित्रकार द्वारा बनाई गई जब कि ऐसा नहीं है। यह महात्मा गांधी की कैंडीड तस्वीर है जिसे किसी फोटोग्राफर द्वारा चुपके से क्लिक किया गया था। यह तस्वीर साल 1946 में ली गई थी। इसे वायसराय हाउस में क्लिक किया गया था जो कि अब राष्ट्रपति भवन के नाम से जाना जाता है। आगे चलकर इस तस्वीर को डेवलप किया गया और पब्लिश किया गया। 

12)Mahatma Gandhi’s Height 

महात्मा गांधी छोटी कद काठी के थे। उनकी height 165 सेंटीमीटर यानी कि पांच फूट पांच इंच थी। 

13)Do or Die by Mahatma Gandhi 

महात्मा गांधी के कोट इतने ज्यादा शक्तिशाली थे कि आज तक उनका रेफरेंस दिया जाता है। महात्मा गांधी का प्रमुख मंत्रा था ‘करो या मरो’। 

Quick Mahatma Gandhi Facts 

  • महात्मा गांधी के जन्मदिवस, 2 अक्टूबर को पूरी दुनिया मे अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है। 
  • महात्मा गांधी के दो भाई और एक बहन थे। 
  • महादेव देसाई गांधी के निजी सचिव थे, उन्होंने ही सत्य के साथ मेरे प्रयोग का अनुवाद किया था। 
  • गांधी जी की हत्या बिरला हाउस के बगीचे मे कि गई थी। 
  • गांधी जी ने केवल आजादी के लिए ही नहीं बल्कि दलितों के साथ समान व्यावहार के लिए भी कार्य किया था। गांधी जी द्वारा दलितों को हरिजन का नाम दिया गया, जिसका अर्थ होता है हरि के ज़न यानी भगवान के लोग। 
  • महात्मा गांधी की अंतिम यात्रा 8 किलोमीटर तक चली थी जिसमें लाखों लोग शामिल हुए थे और जो शामिल नहीं हो सके थे उन्होंने घरों में ही मुंडन करवा लिया था। 

One Word Mahatma Gandhi Facts 

  • जन्म (Birthday of Mahatma Gandhi) – 2 अक्टूबर, 1869
  • पूरा नाम (Full Name Of Gandhi) – मोहन दास करमचंद गांधी 
  • गांधी जी की पत्नी (Spouse of Mahatma Gandhi) – कस्तूरबा गांधी 
  • जन्म स्थल – पोरबंदर 
  • मातृभाषा – गुजराती 
  • कद (Height) – 165 सेंटीमीटर 

सत्य के साथ मेरे प्रयोग (My Experiments With Truth) – महात्मा गांधी द्वारा लिखी गई यह किताब उनके बारे में वह सब कुछ बताती है जो कि उन्हें खुद पता था। गांधी चाहते थे जो अपने बारे में बुरे तथ्य छिपा सकते थे लेकिन उन्होंने खुलकर अपने अच्छे और बुरे दोनों तरह के पहलू को इस किताब में लिखा है। इस किताब के आधार पर गांधी की आलोचना भी हो सकती है, यह जानते हुए भी उन्होंने किताब में सब कुछ सच सच लिखा है। इस किताब को एमाजोन से खरीदने के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर जा सकते हैं, यह आपको 200 रुपये से कम में भी मिल जाएगी। 

  • उसने गांधी को क्यों मारा (Usne Gandhi Ko Kyon Mara) – अशोक कुमार पांडे एक जाने माने लेखक और इतिहासकार हैं। गांधी पर लिखी उनकी इस किताब को लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया है। इस किताब के साथ सबसे अच्छी बात यह है कि यह गांधी से जुडी जरूर है लेकिन उनकी आलोचना करने से भी पीछे नहीं हटती। गांधी के करीब घटने वाली यह किताब गांधी की हत्या के पीछे की वजहों से जुड़ी चर्चा करती है। अगर आप उस वक़्त का एक निष्पक्ष आकलन जानना चाहते हैं तो इस किताब को जरूर पढ़ें। किताब आपको नीचे दिए गए लिंक से मिल जाएगी। इसकी कीमत 300 रुपये से कम है। 

तो दोस्तों यह थे Mahatma Gandhi Facts, अगर आप चाहते हैं कि हम किसी और व्यक्ति से जुड़े फैक्ट लिखें तो आप हमें कमेंट सेक्शन में बता सकते हैं। कोई फ़ीडबैक हो तो इंस्टाग्राम पर जरूर लिखें। हमारा हैंडल है @inklab300

लेखक – अनंत कुमार विश्वकर्मा “कवि अज्ञात” 

लेखक से इंस्टाग्राम पर जुड़ें, हैंडल – @iamagyat 

अगर आप ऐसे ही आर्टिकल पढ़ते रहना चाहते हैं तो पुश नोटिफिकेशन अलाऊ कर लें और न्यूज लेटर सब्सक्राइब करना ना भूलें।

पढ़ने के लिए धन्‍यवाद 

अन्य आर्टिकल पढ़ें

रोज एक फल खाकर बढ़ाएं अपने जीवन के कई साल

जब हिटलर का भतीजा लड़ा उसके खिलाफ अमेरिकी सेना से

कहाँ है असली ताज महल

तीसरा विश्व युद्ध रोकने वाला इंसान

Leave a Reply