Tajmahal Amazing Facts in Hindi: क्या वाकई शाहजहां ने कारीगरों के हाथ कटवा दिये थे?

Tajmahal
Tajmahal Hindi Facts

दुनिया के सात अजूबों में से एक ताज महल सभी को अपनी सुंदरता से अपनी तरफ खींच लेता है. ये इतना सुंदर है कि अरब में इसे “क्राउन ऑफ पैलेसेस” यानी कि महलों का मुकुट कहा जाता है. ताज महल अपनी सुन्दरता के पूरी दुनिया में जाना जाता है, इसे देखने के लिए पूरी दुनिया से हर साल लगभग 70 से 80 लाख लोग आते हैं. किसी- किसी साल तो ये आंकड़ा करोड़ों तक भी पहुंच जाता है. ताज महल लोगों में इतना चहेता तो है लेकिन ताज महल के बारे में लोग बहुत ही कम जानते हैं. इसलिए हम लेकर आए हैं आज आपके लिए Tajmahal से जुड़े कुछ ऐसे Facts जो आपको हैरान कर देंगे और ताज महल के बारे में इतना सब बता देंगे, कि आपको लगेगा कि आपने ताज महल बनते हुए खुद देख लिया. ये रहे वो Interesting Facts about Taj Mahal. 

Interesting and Amazing Facts about Tajmahal: 

#1. मुमताज की असल कब्रगाह: Real Grave of Mumtaj 

बुरी तरह से हैरान होने के लिए तैयार हो जाइए क्योंकि आप जिस मकबरे को मुमताज की कब्र समझ रहे थे वो उनकी पहली कब्र नहीं है. दोस्तों हुआ यूं था कि शाहजहां ने दुश्मनों के लगातार आक्रमण के बाद अपने गढ़ को दिल्ली से दूर, दक्षिण पश्चिम के बुरहानपुर में बना लिया था. वहीँ मुमताज की मृत्यु हुई थी और सबसे पहले रीति रिवाजों के साथ उन्हें वहीँ दफनाया गया था. हालांकि शाहजहां द्वारा ताज महल का निर्माण शुरू कर  लेने के बाद उनके शव को 6 महीने के अंदर आगरा में शिफ्ट कर दिया गया था लेकिन मुमताज की असल कब्र बुरहानपुर में ही मानी जाएगी, हाँ ये अलग बात है कि जहां मुमताज की असली कब्र थी उस जगह पर आज खंडहर के सिवाय कुछ भी नहीं है. 

#2. ताजमहल का निर्माण: About Tajmahal construction

ताज महल का construction दुनिया के सबसे बड़े Constructions में से एक है. इसे बनाने में 22 हजार से भी ज्यादा मजदूरों ने काम किया था. इन मजदूरों में नक्काशी करने वाले, पत्थर तोड़ने वाले शामिल थे. ताज महल को बनाने के लिए लगने वाले material को लाने के लिए लगभग 1000 से भी ज्यादा हाथियों को नियुक्त किया गया था. ये material सुदूर राजस्थान से लेकर छत्तीसगढ़ और दक्षिण से इकट्ठा किया गया था. देश के अलावा 28 तरह के पत्थर श्रीलंका और चाइना से भी जुटाए गए थे. ताज महल को बनाने में लगभग 21 साल लगे थे. इसका निर्माण 1632 में शुरू हुआ था और 1653 में खत्म हुआ था. 

#3. काला ताज महल: Black Taj Mahal 

मुगल बादशाह शाहजहाँ, ताज महल के निर्माण एक और ताज महल का निर्माण करना चाहता था जो कि नदी के उस पार ताज़ महल के बिल्कुल सामने हो और काले पत्थरों से बना हो. ये ताज महल से जुड़ी किसी नीति का हिस्सा था या कुछ और इस बारे में अब तक पूरी तरह से पता नहीं चल पाया, लेकिन बेटों से विद्रोह ने शाहजहां के मंसूबों पर पानी फ़ेर दिया और काले ताज महल का निर्माण नहीं हो पाया. कई लोग ऐसा भी कहते हैं कि यह एक मिथ है, अफवाह है लेकिन मेहताब गार्डन में पाए गए काले पत्थर इस बात की गवाही देते हैं कि शाहजहां काला ताज महल बनवाना चाहते थे. 

#4. मुमताज के मूड स्विंग्स: Mood Swings of Mumtaj 

मुमताज के बारे में ये कहा जाता है कि वो बहुत खूबसूरत थीं और उनका मूड बहुत जल्दी बदल जाता था. उनके बदलते हुए मूड को दर्शाने के लिए ही शाहजहां ने ताज महल को इस तरह से बनाया था कि उस पर दिन के अलग अलग हिस्सों में रोशनी पड़े और उसका रंग अलग अलग आए. 

Mumtajmahal
Mumtaj mahal © Wikipedia

#5. ब्रिटिश सेना और ताजमहल: British Army and Tajmahal 

ताजमहल बहुत खूबसूरत और रमणीय है लेकिन क्या आपको ये पता है कि आज से लगभग 200 साल पहले ये और भी ज्यादा खूबसूरत था. लेकिन इस पर ब्रिटिश आर्मी की बुरी नजर लग गई और ब्रिटिश आर्मी ने ताज महल में लगे बहुत से क़ीमती पत्थरों को उखाड़ लिया था. 

#6. ताज महल के कारीगरों के हाथ कटवा दिए गए थे? Architect of Taj Mahal:

ऐसा माना जाता है कि शाहजहाँ ने ताज महल बनवाने के बाद अपने मजदूरों के हाथ कटवा दिए थे लेकिन यह सच नहीं है. जैसा कि आप जानते ही हैं कि शाहजहाँ ये चाहते थे कि यमुना नदी के उस तरफ भी एक ताज महल का निर्माण हो सके इसलिए उन्होने अपने मजदूरों के हाथ तो बिल्कुल नहीं कटवाए होंगे. 

#7. ताजमहल और कुतुब मीनार: Taj Mahal And Qutub Minar 

ऊंची ऊंची मीनारों का जब जिक्र आता है तो सबसे पहले कुतुब मीनार को याद किया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि ताज महल कुतुब मीनार से भी ज्यादा ऊंचा है. कुतुब मीनार की कुल ऊंचाई है 240 फीट और ताज महल 5 फीट ज्यादा, 245 फीट ऊंचा है. 

#8. ताजमहल को भारतीय ने नहीं बनाया था: Taj Mahal was Not built by an Indian 

भारत की सबसे बड़ी धरोहरों में से एक ताज महल को किसी भारतीय द्वारा निर्माण नहीं किया गया था. ताज महल का निर्माण उस्ताद अहमद लाहौरी के नेतृत्व मे हुआ था जो कि ईरान से थे. इसी कारण से ताज महल इस्लामी परम्परा से निर्मित नजर नहीं आता. अगर आप ईरान की किसी भी पुरानी इमारत को उठाकर देखेंगे तो काफी समानताएं पाएंगे. उस्ताद अहमद लाहौरी ने ही लाल किले की आधारशिला भी रखी थी. 

#9. आज के टाइम पर ताजमहल की कीमत: Taj Mahal Cost Today 

शाह जहां ने ताज महल बनवाते समय लगभग 32 मिलियन डॉलर खर्च किए थे. अगर आज के समय में ताज महल की कॉस्ट निकाली जाये तो 32 मिलियन डॉलर अब 1 बिलियन डॉलर यानी कि करीब 700 करोड़ रुपये बन चुके हैं. 

#10. ताजमहल में दूसरी कब्रें: Other Graves 

शाह जहां की दूसरी पत्नियों और प्रिय नौकर भी ताज महल के प्रांगण में ही दफनाए गए हैं बस उनकी पत्नी मुमताज और उनकी कब्र ताज के अंदर है. 

#11. ताजमहल और द्वितीय विश्वयुद्ध: Tajmahal And World War 2 

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ताज महल को पूरी तरह से ढक दिया गया था. ऐसे कपड़े से ढका गया था कि ताज महल बांस का कोई खेत नजर आए. ऐसा ही भारत पाकिस्तान युद्ध के दौरान भी किया गया था. ताज महल के साथ ऐसा करना जरूरी था क्योंकि यह भारत की सबसे महत्वपूर्ण धरोहर है. 

#12. आगरा के किले से कनेक्शन: Agra Fort Fact 

ताज महल के निर्माण के दौरान शाह जहां ने खुले हाथों से पैसा लुटाया था. इस दौरान वो किसी और काम में भी involve नहीं थे जिससे कि आमदनी आ सके, इसलिए उनका खजाना बिल्कुल खाली हो चुका था, इसलिए उनकी अगली पीढ़ी ने उन्हे बिल्कुल भी माफ नहीं किया और कैद कर दिया. उन्हे आगरा के किले में कैद करके रखा गया था. यहां की खासियत ये थी कि उन्हे जिस मीनार में कैद किया गया था उसका नाम था जैस्मीन मीनार, और इस मीनार की खिड़कियों से ताज महल नजर आता है. 

You may also like: भारत और पाकिस्तान में से कौन सा देश है बेहतर।

#13. ताज महल की नींव लकड़ी की: Wooden Base Of Taj Mahal 

Taj Mahal को लकड़ी के एक आधार पर बनाया गया है जो कि अगर यमुना के किनारे होता तो शायद कभी भी टिक नहीं पाता लेकिन यमुना के पानी की यह खासियत है कि लकड़ी अब तक टिकी हुई है. 

#14. ब्रिटिश और ताज महल: British and Tajmahal History

अंग्रेजों को ताज महल बहुत पसंद था इसलिए वो इसका खास ख्याल रखते थे. मुगल साम्राज्य के समय इसमे गुलाब या दूसरे तरह के फूल लगते थे लेकिन अंग्रेजों ने बिल्कुल इसे बदल दिया था और ऐसे फूल लगाए थे जो कि लंदन में पारम्परिक हैं. 

#15. कब्र की सजावट: Grave Decoration

ताज महल बहुत ज्यादा सजा हुआ है लेकिन कब्र को ज्यादा सजाना नहीं चाहिए इसलिए मुमताज और बादशाह को सामान्य तरीके से बिना किसी साज सजावट के ताज महल के अंदर दफनाया गया है.

Quick facts about Tajmahal History in Hindi

  • स्थित है :- आगरा में. 
  • किस नदी के तट पर :यमुना के तट पर. 
  • बनाया गया :- मुगल बादशाह शाहजहां द्वारा 
  • किसके लिए : शाहजहां की पत्नी मुमताज के लिए 
  • मुमताज की पहली कब्र : बुरहानपुर 
  • खर्च आया :- 3 लाख 20 हजार डॉलर. 
  • समय लगा :- 21 साल. 1632 से 1653.
  • आर्किटेक्ट :- उस्ताद अहमद लाहौरी 
  • प्रमुख समस्या :- अम्लीय वर्षा और प्रदूषण 
  • दर्शक :- 70 से 80 लाख. 
  • प्रति दिन :- 5 हजार से 50 हजार तक. 

Leave a Reply