World War II : क्यों किया अमेरिका ने परमाणु हमला? | INKLAB

World War II
World War II

World War II : Interesting Facts in Hindi: कैसे शुरू हुआ ये महायुुद्ध

साल 1939 से 1945 से चला द्वितीय विश्व युद्ध इतिहास के वीभत्स युद्धों में से एक माना जाता है। इस युद्ध के दौरान ही पहली बार परमाणु बम का प्रयोग किया गया था। ये युद्ध इतना वीभत्स था कि इसमे 12 करोड़ से ज्यादा लोग मारे गए थे और कई शहरों का नक्शा ही हमेशा के लिए बदल गया था। आइए जानते हैं Amazing Facts about 2nd World War और पता करते हैं कि क्या हैं Unknown and Quick Facts about World War II. 

#1. द्वितीय विश्व युद्ध में शामिल देश – World War II Combatants

सबसे पहले बात कर लेते हैं उन देशों की जो की द्वितीय विश्व युद्ध में शामिल थे। द्वितीय विश्व युद्ध दो गुटों के बीच हुआ था। पहले गुट का नाम था मित्र देश और दूसरे  गुट का नाम था धुरी देश। 

मित्र देश (Allies of World War II) :- अमेरिका, रूस, ग्रेट ब्रिटेन, फ़्रांस और चीन। 

धुरी देश (Axis Powers in World War II) :- जर्मनी,इटली और जापान। 

#2. द्वितीय विश्व युद्ध के कारण – Cause for World War II 

द्वितीय विश्व युद्ध के कई कारण मौजूद हैं। इसका सबसे बड़ा और मुख्य कारण है जर्मनी का पोलैंड पर कब्जा कर लेना। ये हुआ था साल 1939 को 1 सितंबर में। हिटलर के नेतृत्व वाले जर्मनी ने पोलैंड पर कब्जा कर लिया था और उस कब्जे के विरोध में ग्रेट ब्रिटेन और फ्रांस ने मिलकर जर्मनी के खिलाफ युद्ध छेड़ दिया था। इस युद्ध ने विश्व युद्ध द्वितीय शुरू करवा दिया था। बाद में, 22 जून 1941को जर्मनी के खिलाफ सोवियत संघ भी आकर खड़ा हो गया था। इसके बाद दिसंबर 7 और 8 1941 को जापान ने अमेरिकन नौसेना के कई डेरों पर हमला कर दिया जिससे कि युद्ध की अग्नि पूरी तरह भड़क गई और लगभग पूरी दुनिया का हर देश इसमे शामिल हो गया।

इस युद्ध का सबसे ज्यादा फायदा रूस को हुआ था क्योंकि युद्ध ने रूस को एक शक्तिशाली देश के तौर पर स्थापित कर दिया था। 

#3. दूसरे विश्व युद्ध के नेता – Leaders of 2nd World War

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान कई तानाशाह एवं कुशल सेनापति अलग अलग देशों से निकल कर आये थे. वो थे:-

ग्रेट ब्रिटेन :- विंस्टन चर्चिल 

सोवियत संघ :- जोसेफ स्टालिन 

फ्रांस :- चार्ल्स डी गौले 

अमेरिका :- फ्रांक्लीन डी. रोज्वेलट और हैरी एस. ट्रूमैन

जर्मनी :- एडोल्फ हिटलर 

इटली :- बेनिटो मुसोलिनी

जापान :- हीडेकी तोजो 

World War II Leaders
Axis Powers: Adolf Hitler, Benito Mussolini, Hideki Tojo

#4. द्वितीय विश्व युद्ध मे सैनिक – Soldiers sacrificed in 2nd World War

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान दोनों ही पक्षों के कई सैनिक मारे गए थे और कुछ तो इतने ज्यादा घायल हो चुके थे कि वो दोबारा कभी युद्ध के मैदान तक जा नहीं सकते थे। मारे गए सैनिकों की संख्या:-

  • मित्र देश :- 1 करोड़, 60 लाख. 
  • धुरी देश :- 80 लाख. 

#5. चीन और द्वितीय विश्व युद्ध – China and Second World War 

चीन को मित्र देशों में गिना जाता है लेकिन चीन पूरी तरह से विश्व युद्ध द्वितीय में शामिल नहीं था. 

#6. द्वितीय विश्व युद्ध में आम नागरिक – Civilians in Second World War

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान सैनिकों के साथ साथ आम नागरिकों को भी अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था। और बल्कि ये कहा जा सकता है कि आम नागरिकों को सैनिकों से ज्यादा नुकसान सहना पड़ा था. आप उदाहरण के तौर पर जापान के हिरोशिमा और नागासाकी को देख सकते हैं, जहां पर सैनिकों से कई गुना ज्यादा आम नागरिक ही मौजूद थे। मारे गए नागरिकों की संख्या :-

  • मित्र देश (Allied Nations):- साढ़े चार करोड़ के लगभग. 

सोवियत संघ :- लगभग 1 करोड़ 20 लाख लोग 

ग्रेट ब्रिटेन :- आंकड़ा मौजूद नहीं. 

फ्रांस :- लगभग 3 लाख लोग. 

अमेरिका :- आंकड़ा मौजूद नहीं. 

चीन :- लगभग डेढ़ करोड़ लोग. 

  • धुरी देश (Axis Powers) :- लगभग 40 लाख. 

जापान :- 3 लाख के लगभग. 

जर्मनी :- 20 लाख लगभग. 

इटली :- आंकड़ा मौजूद नहीं. 

#7. द्वितीय विश्व युद्ध में अन्य देश – Other Countries In Second World War

द्वितीय विश्व युद्ध में दूसरे देशों का भी काफी नुकसान हुआ था। हालांकि कई देश प्रमुखता से तो नहीं लड़ रहे थे लेकिन मित्र देशों या धुरी देशों को सपोर्ट जरूर कर रहे थे। उन देशों के आंकड़े निम्न हैं :- 

मित्र देश साथी देशों के मारे गए लोग 

  • भारत :- लगभग 20 लाख नागरिक और सैनिक 
  • पोलैंड :-  लगभग 50 लाख नागरिक और सैनिक 
  • इंडोनेशिया :- लगभग 40 लाख नागरिक और सैनिक 
  • ग्रीस :- लगभग 4 लाख नागरिक और सैनिक 
  • बर्मा :- लगभग 4 लाख नागरिक और सैनिक 
  • युगनॉशिया :- लगभग 10 लाख नागरिक और सैनिक 
  • चेकोस्लोवाकिया :- लगभग 3 लाख नागरिक 
  • लतविया :- लगभग 1 लाख नागरिक 
  • लितहुआनीय :- लगभग 3 लाख नागरिक 

धुरी देशों के साथी देशों के मारे गए लोग 

  • रोमानिया :- लगभग दस लाख नागरिक और सैनिक 
  • ह्न्गरी :- लगभग 7 लाख नागरिक और सैनिक 
  • अन्य :- लगभग 18 लाख नागरिक और सैनिक 

#8. जापान पर न्यूक्लियर हमला क्यों? Why Nuclear attack on Japan?

मई में जर्मनी के समर्पण के बाद लगभग ऐसा लग रहा था कि युद्ध समाप्त हो चुका है और मित्र देश जीत चुके हैं लेकिन मित्र देशों और जीत के बीच जापान दीवार बनकर खड़ा था। मित्र देश यह चाहते थे कि किसी तरह जापान को हरा दिया जाए। अमेरिका के लिए भी जापान को रोक पाना मुश्किल हो रहा था, और फिर अमेरिका ने अंत में जापान को रोकने के लिए परमाणु का इस्तेमाल किया।

#9. द्वितीय विश्व युद्ध का अंत कैसे हुआ? When did World War 2 end?

द्वितीय विश्व युद्ध का अंत धुरी देशों के समर्पण के कारण हुआ था। 8 मई 1945 को सबसे पहले मित्र देशों को जर्मनी ने अपना समर्पण दिया। उनके नेता एडोल्फ हिटलर ने आत्म हत्या कर ली थी। इसी कारण 8 मई को विंस्टन चर्चिल ने VE Day यानी कि यूरोप की जीत का दिवस घोषित कर दिया था। हालांकि जापान ने इस वक्त तक समर्पण नहीं किया था इसलिए यह युद्ध का अंत नहीं था। जापान ने इसके लगभग 4-5 महीने बाद सितंबर में समर्पण किया। समर्पण की असली वजह धुरी देशों का नेतृत्व कर रहे जर्मनी पर अमेरिकी सेनाओं का प्रवेश थीं। जर्मनी में अमेरिकी सेनाओं ने आतंक मचा दिया था और उसी के परिणामस्वरूप एक साल बाद हिटलर ने हार मान कर आत्महत्या कर ली थी। 

Unknown And Unbelievable Facts About World War II:

1. Germany’s First Soldier 

जर्मनी का मरने वाला पहला सिपाही, जापानियों द्वारा मारा गया था, हालांकि जर्मनी और जापान एक ही पक्ष में थे। 

2. America’s First Soldier 

उसी तरह रूस और अमेरिका भी एक ही पक्ष में थे लेकिन चौकाने वाली बात ये है कि पहला अमेरिकी जो मारा गया था वो रूसियों द्वारा ही मारा गया था। 

3. Death in Air 

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जान माल का नुकसान तो बहुत ज्यादा हुआ था लेकिन क्या आप जानते हैं? इस युद्ध के दौरान 1 लाख से भी ज्यादा लोग आसमान में ही मारे गए थे। ये सेना का वो हिस्सा था जो कि बॉम्ब गिराने का काम करता था। 

4. American Air Force in Second World War 

द्वितीय विश्व युद्ध एक आकाशीय लड़ाई थी। इसमें सबसे ज्यादा कीमत वायुसेना की थी और वायुसेना ने ही सबसे ज्यादा नुकसान सहा था। अमेरिका के नौसेना से ज्यादा सैनिक वायु सेना में मारे गए थे। 

5. Car Manufacturers in Second World War 

द्वितीय विश्व युद्ध ने सभी देशों के लगभग हर तरह के बिजनेस को ठप्प कर दिया था। इसका सबूत है अमेरिका का कार बिजनेस। अमेरिका ने साल 1941 मे 30 लाख से भी ज्यादा कारों का निर्माण किया था लेकिन पूरे युद्ध के दौरान वह केवल 139 और कार्स बना पाया था। 

6. Calvin Graham – 12 Year Old Soldier 

आप कैप्टन अमेरिका के बारे में जानते ही होंगे जो कि किसी भी कीमत पर फौज में जाना चाहता था, उन्ही की तरह अमेरिका का सेनानायक था जिसका नाम था Calvin Graham। यह केवल 12 साल का था जब यह अमेरिका के लिए युद्ध में लड़ा था। यह दर्शाता है कि युद्ध के दौरान सैनिकों की भारी कमी का सामना देशों को करना पड़ रहा था। 

7. William Hitler – Nephew of Hitler 

हिटलर के खिलाफ जहां पूरी दुनिया खड़ी थी वहीं हिटलर के खिलाफ उसका परिवार भी खड़ा था। इसका सबूत हैं, William Hitler, ये एडोल्फ हिटलर का भतीजा था और अमेरिकी नौ सेना में काम करता था। 

8. Friendship Of Henry Ford And Adolf Hitler 

जहां एक तरफ पूरा अमेरिका हिटलर से नफरत करता था वहीं कुछ ऐसे लोग भी थे जो कि अमेरिका से हिटलर को सपोर्ट करते थे। उनमें से एक थे फोर्ड कार के संस्थापक, हेनरी फोर्ड। हेनरी फोर्ड और एडोल्फ हिटलर काफी अच्छे दोस्त थे और उन दोनों की ही डेस्क पर एक दूसरे के साथ की फोटो रखी रहती थी। 

9. Tokyo Was the Third Choice 

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिराने के बाद अमेरिका तीसरा परमाणु भी गिराना चाहता था और इसके लिए शहर का चुनाव किया गया था टोक्यो, हालांकि इससे पहले ही जापान ने समर्पण कर दिया था। 

10. French Army 

फ्रांस की सेना द्वितीय विश्व युद्ध में शामिल होने वाली सबसे बड़ी सेना. में से एक थी लेकिन फिर भी वह इस युद्ध में उतना अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए इसका कारण प्रथम विश्व युद्ध को माना जाता है। 

Quick Facts About 2nd World War:

  • शुरुआत :- 1 सितंबर, 1939.
  • अंत :- 2 सितंबर 1945. 
  • समय :- 6 साल एक दिन. 
  • विजय :- मित्र देशों की विजय. (अमेरिका, सोवियत संघ, ग्रेट ब्रिटेन, फ्रांस, चीन) 
  • प्रतिभागी :- 8 देश. 
  • कुल मारे गए लोग :- मित्र देशों की तरफ से 6 करोड़ 10 लाख लोग और धुरी देशों की तरफ से 1 करोड़ 20 लाख लोग। 

Leave a Reply