Yogi Adityanath (योगी आदित्यनाथ): Interesting Facts, News, Age

Yogi Adityanath Interesting Facts: Age, Height, Education

Yogi ji Modi ji
पूरा नाम (Full Name): योगी आदित्यनाथ  (Yogi Adityanath)
पद (Position)उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री (दूसरी बार) (2022-27) (Uttar Pradesh Chief Minister)
संन्यास लेने से पहले का नाम (Real Name): अजय मोहन बिष्ट (Ajay Mohan Bisht) 
हाइट (Height): 163 सेंटीमीटर/ 5’4″
पेशा (Profession): राजनीतिज्ञ (Politician) 
राजनीतिक दल (Political party): भारतीय जनता पार्टी  (भारतीय जनता Party) 
चुनाव क्षेत्र (Constituency):गोरखपुर (Gorakhpur) 
जन्मतिथि/ जयंती (Birthday/ Jayanti): 5 जून 1972  (सोमवार ) (5 June , 1972) (Monday) 
जन्मस्थान (Place of Birth):पंचूर, पौड़ी गढ़वाल जिला , उत्तर प्रदेश ,वर्तमान उत्तराखंड , भारत (Panchoor, Pauri Garhwal, UP presently in Uttarakhand, India)
उम्र (Age) : 49 साल (वर्ष 2022 में) 
पिता (Father): आनंद सिंह बिष्ट (Anand Singh Bisht) 
माता (Mother): सावित्री देवी (Savitri Devi)
वैवाहिक स्थिति (Marital Status):अविवाहित (Unmarried) 
शिक्षा (Education):गणित विषय में स्नातक (BSc. Mathematics) 
स्कूल (School): पौड़ी में ही एक विद्यालय (A school In Pauri) 
कॉलेज  (College): एचएनबी गढ़वाल विश्वविद्यालय (HNB Garhwal University) 
राशि (Zodiac Sign):मिथुन  (Gemini)
जाति (Cast):   ठाकुर ( Thakur) 
धर्म (Religion):हिन्दू,  नाथ संप्रदाय (Hinduism, Nath Sampradaya) 
राष्ट्रीयता (Nationality) भारतीय (Indian)
गुरु (Spiritual Guru) :   महंत अवैद्यनाथ महाराज (Mahant Avaidyanath Maharaj) 
समन्वय (Ordination):  12 सितंबर 2014 (12 September 2014) 
संत पद  (Post): गोरखनाथ मठ के महंत (Mahant of the Gorakhnath Math) 
शौक (Hobbies): बैडमिंटन खेलना, तैरना, जानवरों को भोजन कराना (Playing Badminton & swimming, feeding animals ) 
पसंदीदा भोजन   (Favorite Cuisine):गहद  (A variety of pulse grown in hills ) 
पसंदीदा नेता (Favorite Politician): नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 
मुख्यमंत्री के तौर पर तनख्वाह (Salary As Chief Minister):  3 लाख 65 हजार (3 Lakh 65 Thousand) 
नेट वर्थ (Net Worth):1.54 करोड़ (1.54 Crore)

# Interesting Facts About Yogi Adityanath: 

5 जून 1972 को पौड़ी के एक ठाकुर परिवार में जन्मा एक लड़का, जो बचपन में तो सामान्य बच्चों जैसा ही था। उन्होंने पास के ही एक स्कूल से अपनी स्कूली पढ़ाई की और इसके बाद एचएनबी गढ़वाल विश्वविद्यालय से गणित में स्नातक की डिग्री हासिल की। दोस्तों आपने जब भी योगी जी को देखा होगा तो उनमें अक्सर आपको हिंदू कट्टरपंथी व्यक्ति नज़र आता होगा। अपने आक्रामक हिंदुत्ववादी बयानों की वजह से कई दफा योगी जी विवादों में भी घिरे  हैं। हिंदू धर्म के प्रति उनकी ये अपार श्रद्धा शायद बचपन के दिनों से ही रही होगी इसी लिए  तो उन्होंने महज 21 साल की उम्र में ही राम मंदिर आंदोलन में शामिल होने के लिए अपना घर छोड़ दिया था।  तो आइये दोस्तों आपको बताते हैं सन्यासी से  मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के जीवन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य। 

# असली नाम योगी आदित्यनाथ नहीं था। (Real name of Yogi Adityanath) 

दोस्तों आज भले ही हम उन्हें योगी आदित्यनाथ के नाम से जानते हो, पर हमेशा से योगी जी का नाम आदित्यनाथ नहीं था। बल्कि ये तो संन्यास लेने के बाद का उनका परिवर्तित नाम है। पहले उनका नाम अजय मोहन था। चूंकि योगी जी बिष्ट जाति के हैं अतः उनका पूरा नाम अजय मोहन बिष्ट था। संन्यास लेने के बाद उन्होंने अपना नाम बदल कर योगी आदित्यनाथ कर लिया। 

# 22 साल की छोटी उम्र में लिया संन्यास 

 दोस्तों 1992 में जब योगी गणित विषय से एम.एस.सी की पढ़ाई कर रहे थे तो गुरु गोरखनाथ पर रिसर्च करने के लिए वो गोरखपुर गए। यहीं वो गोरखनाथ पीठ के महंत अवैद्यनाथ जी से मिले और उन्हीं से प्रेरणा लेकर योगी आदित्यनाथ ने 22 वर्ष की अवस्था में संन्यास ले लिया। 1994 में ये पूरी तरह संन्यासी बन गए और इन्होंने अपना नाम बदल कर योगी आदित्यनाथ कर दिया। 

#  हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक (Founder of Hindu Yuva Vahini)

अप्रैल 2002  में इन्होंने “हिंदू युवा वाहिनी” की स्थापना भी की। अगर आप नहीं जानते, तो आपको बता दें कि हिंदू युवा वाहिनी योगी जी के द्वारा संस्थापित एक संगठन है। हालांकि योगी जी ने जब इस संगठन की स्थापना की थी तब उनका कहना था कि यह एक सांस्कृतिक संगठन है। लेकिन कई लोग इस बात से सहमति नहीं रखते उनका कहना है योगी जी ने इस संगठन को अपनी राजनीतिक पहुँच बढ़ाने के लिए बनाया था। हालांकि इसके पक्ष में तर्क ये भी है कि 1998 में अपना पहला चुनाव उन्होंने 26 हजार वोटों से जीता था लेकिन दूसरे चुनाव में वो महज 7000 वोटों से ही आगे थे।  वोटों का गिरता आँकड़ा चिंताजनक तो था। और इसी लिए उनके विरोधी ये कहते हैं कि इस संगठन का निर्माण कर योगी आदित्यनाथ अपनी लोकप्रियता को बढ़ाना चाहते हैं। 

# भारतीय पार्लियामेंट के सबसे छोटे एम पी (Youngest MP of Indian Parliament)

Yogi Adityanath, Narendra Modi

दोस्तों योगी आदित्यनाथ का राजनीतिक करिअर वाकई उम्दा और शानदार रहा है। अपना सबसे पहला चुनाव उन्होंने 1998 में गोरखपुर से लड़ा था। उस समय योगी जी की उम्र महज 26 साल ही थी। योगी ने वो चुनाव जीता और सिर्फ 26 साल की उम्र में सांसद बने। और इसके साथ ही उन्होंने इंडियन पार्लियामेंट के सबसे कम उम्र के सांसद बनने का record भी बनाया। 

# गोरखनाथ मठ के प्रधान पुजारी 

 योगी आदित्यनाथ ‘गोरखनाथ मठ’ के प्रधान पुजारी भी हैं। इसके अलावा यहाँ छपने वाली वार्षिक पुस्तक “योगवाणी” के प्रधान संपादक भी योगी आदित्यनाथ ही हैं। 

#  लग चुके हैं कई कानूनी आरोप (Controversies surrounding Yogi Adityanath)

भारत में अगर कोई राजनीति में शामिल हुआ है तो ऐसा नहीं हो सकता कि वो विवादों से बचा रह जाए। योगी जी पर कई मुकदमे दर्ज हैं। वो अपने विवादित बयानों के लिए तो जाने ही जाते हैं, लेकिन उन पर कई आपराधिक मामले भी दर्ज हैं। और कई बार तो इनके लिए उन्हें जेल भी जाना पड़ा था। 

  1. योगी आदित्यनाथ पर भड़काऊ भाषण से असामंजस्य फैलाने और हिंसा भड़काने के आरोप हैं। 
  2.  योगी आदित्यनाथ ने फिल्म अभिनेता शाहरुख खान की तुलना पाकिस्तानी आतंकवादी हाफिज सईद से की, यहाँ तक कि उनकी फिल्मों का बहिष्कार करने की भी धमकी दी। जिसकी वजह से उन पर मुकदमा दर्ज है। 
  3. योगी जी पर दंगे भड़काने और हत्या का प्रयास करने के 3 केस भी चले थे। और उन्हें 151A, 146, 147, 279, 506 इन धाराओं के तहत लगे आरोपों की वजह से जेल भी जाना पड़ा था। 

# पिता के अंतिम संस्कार में भी नहीं हुए शामिल (Not attended Father’s funeral)

दोस्तों साल 2020-21 यानी कोविड महामारी का वो समय जब लाखों करोड़ों लोगों की जाने गयी, उसी समय अप्रैल 2020 में  योगी आदित्यनाथ के पिता का भी देहावसान हो गया। चूंकि योगी जी एक सन्यासी हैं इसलिए वो अपने व्यक्तिगत जीवन और संबंधों का त्याग कर चुके हैं इसीलिए पिता के देहांत के बाद भी उन्होंने अपने संन्यासी धर्म का निर्वहन किया और पिता के अंतिम संस्कार में भी नहीं शामिल हुए। 

# लगातार 6 बार सांसद (6 times continuous MP)

दोस्तों राजनीति तो बहुत से लोग करते हैं और जनता के बीच लोकप्रियता भी उनमें से बहुतों को मिलती हैं लेकिन योगी के संसदीय क्षेत्र की जनता ने उनको जितना सराहा है उतना शायद ही किसी और को सराहा होगा। 1998 में योगी ने पहला लोकसभा चुनाव लड़ा था। वो दिन और आज का दिन योगी अपने संसदीय क्षेत्र से एक भी चुनाव नहीं हारे हैं। 

# संस्कृत में ली शपथ (took oath in Sanskrit)

जब योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सांसद बने थे तो उन्होंने शपथ संस्कृत भाषा में ग्रहण की थी। 

# ईसाइयों का धर्म परिवर्तित करवाया

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) कथित तौर पर लगभग 1800 ईसाइयों का धर्म परिवर्तन करवा कर उन्हें हिंदू धर्म में शामिल करवा चुके हैं। 

# बाघ के बच्चे को दूध पिलाया (Yogi feeding milk to Tiger cub)

Yogi ji

दोस्तों, योगी जी का जानवरों के लिए प्रेम और लगाव तो जग जाहिर हैं। वे हमेशा से गौ रक्षा के लिए काम करते आए हैं लेकिन उन्हें अन्य जानवरों से भी काफी लगाव है। एक बार तो उनके बाघ के बच्चे को दूध पिलाते हुए तस्वीर भी viral हुई थी। 

# योगी के कार्यकाल में ही यूपी में पहली बार उप मुख्यमंत्री बने

19 मार्च 2017 में आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री बने थे। और उनके कार्यकाल में ही ये पहली बार था, जब उत्तर प्रदेश में दो उप मुख्यमंत्री भी बनाए गए।  

# यूपी का सबसे बड़ा बजट पास किया (passed biggest budget of UP)

2018 में योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने ही उत्तर प्रदेश का अब तक का सबसे बड़ा बजट भी पास किया था। जिसके अंतर्गत जनता को कई लाभ देने की बात कही गयी थी। 

# 2022 में एक बार फिर योगी (got elected as UP CM for second time)

10 मार्च को चुनावी नतीजे आने के बाद भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर पूर्ण बहुमत से सत्ता में आई है। जनता ने योगी जी को दोबारा अपने प्रतिनिधि के रूप चुना. और इस जीत के साथ योगी जी उत्तर प्रदेश के पहले ऐसे मुख्यमंत्री बन गए हैं जो अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद लगातार दूसरी बार सत्ता में आए हैं। दोस्तों 1985 के बाद ये पहली बार हुआ है जब कोई सत्तारूढ़ पार्टी दोबारा सत्ता में आई है। 

# गोरखपुर में सबसे बड़ी जीत (historic win in Gorakhpur)

दोस्तों, इस चुनाव में जीत योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के लिए वाकई शानदार रही वैसे तो उन्होंने हमेशा से ही गोरखपुर की सीट पर कब्जा जमा कर रखा है लेकिन इस बार वो लगभग 103390 के वोटों के अंतर से जीते हैं। जो कि गोरखपुर में अब तक कि सबसे बड़ी जीत है। 

तो ये थे संन्यासी से लगातार दो बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ के जीवन जी जुड़े कुछ रोचक तथ्य। धन्यवाद! 

Leave a Reply